आंवले का जूस – महिलाओं के लिये विशेष उपयोगी.

 महिलाओं के लिये विशेष आंवले का जूस

आंवले का जूस की उपयोगिता

अपने औषधीय गुणों के कारण प्रसिद्ध आंवले का जूस वैसे तो हर किसी को विशेषकर सर्दियों में अपनी सामान्य दिनचर्या में अवश्य शामिल करना चाहिए । किंतु महिलाओं की खुराक में तो इसकी खास जगह होनी चाहिए क्‍योंकि यह विटामिन C, विटामिन बी कॉम्पलेक्स,  कैल्शियम,  आयरन,  बीटा कैरोटीन जैसे पोषक तत्‍वों से समृद्ध फल है, इसीलिये आंवले को सैकडों रोगों की एकमात्र दवा माना जाता है और इसकी गणना अमृतफल के रुप में की जाती है । स्वाद में खट्टा व कसैला होने के कारण हर कोई आंवला खाना प्राय: पसंद नहीं करता ।  किंतु आंलसे का जूस आसानी से पिया जा सकता है जो आंवले की तरह ही भरपूर लाभप्रद होता है ।

सर्दियों में उपलब्ध ताजे आंवले का जूस सिर्फ 2 चम्मच मात्रा में इतना ही शहद मिलाकर या सिर्फ हल्का गुनगुना पानी मिलाकर नित्य सुबह एक बार पी लेना वैसे तो स्त्री-पुरुष, बच्चे-बूढे अथवा युवा वर्ग सभी के लिये अत्यंत स्वास्थ्यकर होता है किंतु महिलाओं के लिये इसका महत्व उनके शरीर को संतुलित रखने व उनकी त्वचा की चमक व ताजगी बनाये रखने में विशेष मददगार साबित होता है ।

Click & Read Also-

सफलता के सात सूत्र… 

स्वनिर्मित- सस्ता व स्वास्थ्यप्रद आंवला च्यवनप्राश. 

जब हम इसमें सम मात्रा में शुद्ध शहद भी मिला लेते हैं, तो इससे मिलने वाले फायदों में दुगनी वृद्धि हो जाती है । ऐसा इसलिये होता है कि शहद को योगवाही कहा जाता है अर्थात् जिस भी वस्तु में शहद मिला लिया जावे वो वस्तु शहद की मौजूदगी के कारण कम से कम दुगना लाभ प्रदान करती है । यहाँ हम यह समझने की कोशिश करते हैं कि आंवले का रस किस प्रकार से हमारे लिये उपयोगी होता है-

            मोटापा घटाने में मददगार  जब भी वजन कम करने की बात होती है विशेषज्ञ कडवे और कसैले स्वाद वाली वस्तुओं का प्रयोग अपने खान-पान में बढाने की सलाह देते हैं ।  मोटापा अक्सर स्‍लो मेटाबॉलिज्‍म के कारण बढ़ता है । जबकि आंवले का जूस हमारे डाइजेशन से फ्री रेडिकल्‍स और हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर  मेटाबॉलिज्‍म को हेल्‍दी और एक्टिव रखने में मदद करता है । यह स्थिति वजन बढ़ने के कारण याने शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों के निर्माण को न सिर्फ रोकने में सहायक होती है, बल्कि हमारे शरीर में मौजूद इन हानिकारक तत्वों को बाहर निकालने में मदद करती है, जिससे पेट फूलने और भारीपन की समस्या से छुटकारा मिलता है जो अक्सर वजन बढने का कारण बनते हैं ।

            त्वचा में ताजगी  अगर आप चेहरे पर नेचुरल ग्‍लो और त्‍वचा को चमकदार बनाये रखना चाहती हैं तो रोजाना सुबह एक बार आंवले के जूस का सेवन करें और स्वयं देखें कि आपकी त्‍वचा में दिन-ब-दिन कैसे निखार बढता है । अपने   एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण  आंवले का जूस त्वचा की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करता है और उम्र बढ़ने के अन्य लक्षणों, चेहरे पर आने वाले धब्‍बों, झुर्रियों को रोकता है । इसके नियमित सेवन से त्वचा में एक नेचुरल ग्लो आता है । आंवला बॉडी को अंदर से डिटॉक्‍स करके आपको फ्रेश,  हेल्‍दी,  यंग और चमकदार त्वचा देता है ।

            पीरियड्स में होने वाले तेज दर्द व ऐंठन दूर करें  आंवले में मौजूद कुछ मिनरल और विटामिन्स पीरियड में होने वाली ऐंठन को दूर करने में बहुत उपयोगी होते हैं । इसके अलावा महिलाओं को पीरियड्स में कई तरह की समस्याएं जैसे अनियमित मासिक,  पेट व कमर में दर्द,  अधिक रक्तस्त्राव आदि का सामना करना पड़ता है । ऐसे में आंवले का जूस बेहद फायदेमंद है । अगर रोजाना आंवले का जूस पीया जाए तो आंवले में मौजूद विटामिन और मिनरल पीरियड्स से जुड़ी ऐसी अनेकों समस्‍यओं से छुटकारा दिला सकते हैं ।

            रोग-प्रतिरोधक शक्ति बढाये  आवंले में मौजूद विटामिन सी की विशेष मौजूदगी हमें बैक्‍टीरिया और फंगल इंफेक्‍शन से लड़ने की ताकत देती है । आंवले का जूस पीने से हमारी शरीर का इम्‍यून सिस्टम मजबूत रहता है, जिससे हम कई छोटी-बडी बीमरियों से दूर रहते हैं । आंवला शरीर में मौजूद हानिकारक टॉक्‍सिन को आसानी से मल-मूत्र के द्वारा बाहर निकाल देता है,  जिससे हमारा सर्दी-जुकाम, अल्‍सर और पेट के इंफेक्‍शन जैसे अनेक छोटे-बडे रोगों से बचाव बना रहता है ।

           हडि्डयों में मजबूती  बढ़ती उम्र के साथ हमारी हड्डियां व शरीर के अन्य जोड कमजोर होते हैं । जिनसे प्रभावित व्यक्तियों को सर्दियों के मौसम में अधिक तकलीफ सहन करना पडती है, लेकिन नियमित आंवले का जूस पीकर हम अपनी हड्डियों को स्वस्थ्य व मजबूत बना सकते हैं । इस जूस को नियमित रूप से पीने से ऑस्टियोक्लास्ट होता है,  जो हड्डियों की कोशिकाओं के विनिर्माण में सहायक होने से  हड्डियों व जोडों को मजबूत  बनाने में मदद करता है ।

Click & Read Also-

काले घने बाल

विवाहित साथ का महत्व…

स्वस्थ जीवन के लिये मैथुन-सुख का महत्व… 

 

इनके अलावा भी आंवले का जूस पीने के अनेकों फायदे हमारे शरीर को मिलते हैं । यह हमारे बालों,  ह्रदय,  डायबिटीज और आंखों के लिए भी अत्यंत उपयोगी होता है ।

आंवले का जूस कब पीना चाहिये

सामान्य अवधारणा तो यह है कि अगर महिलाएं सर्दियों में 3 महीने नियमित रुप से सिर्फ 2 चम्‍मच प्रतिदिन आंवला जूस लेती हैं तो इससे उन्हें पूरे वर्ष स्वस्थ रहने में मदद मिलती है । यद्यपि तमाम आयुर्वेदिक उत्पादन बनाने वाली कम्पनियां इसमें प्रिजर्वेटिव मिलाकर लम्बे समय तक सेवन योग्य बनाये रखने के लिये अपने-अपने ब्रांड का आंवला ज्यूस लीटर के माप में बेचने के लिये उपलब्ध करवाती हैं जिनका स्वास्थ्य के शौकीन लोग नियमित इस्तेमाल भी करते हैं किंतु हमें इन तीन महिनों में इसकी सुगम उपलब्धि के दौरान तो इसके ताजे जूस का नियमित सेवन अवश्य करना चाहिये ।

चित्र सौजन्य गुगल

Leave a Reply

Your email address will not be published.