दूध और दालचीनी के सेवन से प्राप्त स्वास्थ्य व सौंदर्य लाभ…

दूध और दालचीनी के जबर्दस्त स्वास्थ्य लाभ

दूध और दालचीनी के स्वास्थ्य व सौंदर्य लाभ.

        दूध तो हम में से कई लोग पीते है लेकिन उनमें अनेक व्यक्तियों को यह शिकायत रहती है कि उन्हें दूध पचता नहीं है । इस समस्या के समाधान हेतु हम आपको वंडर स्पाइस दालचीनी के बारे में बता रहे हैं जिसे दूध में डालकर पीने से न सिर्फ आपसे बीमारियों कोसों दूर रहेंगी बल्कि एक स्वस्थ व निरोगी काया के साथ आपका शरीर फौलाद सदृष बनता चला जायेगा ।  दूध और दालचीनी का यह मिश्रण हरसंभव तरीके से हमें रोगमुक्त रखने में मददगार होता है ।

 

Click & Read Also-

सभी के काम आने योग्य आवश्यक जानकारियां 

Tea’s – कार्यस्थल की चाय और प्लास्टिक बैग में पैक होने के नुकसान…

 

वंडर-स्पाईस दालचीनी का बहुतायत से उपयोग हम अपने दैनिक जीवन में करते हैं किंतु इसके कई मूल्यवान फायदों से अनजान भी रहते हैं । दालचीनी के गुणों कि यदि बात की जावे तो चाहे वजन कम करना हो, सेक्स पावर बढ़ाना हो या सर्दी-जुकाम से निजात पाना हो, ऐसी अनेकों शारीरिक समस्याएं हैं जिनमें दालचीनी का प्रयोग इसमें मौजूद विभिन्न एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और मिनरल्स जैसे गुणों के कारण हमें बहुत सी बीमारियों से सफलतापूर्वक बचाए रखता है ।

दूध और दालचीनी के इस अद्भुत मेल का लाभ लेने के लिए बस एक कप या ग्लास गर्म दूध में आधा चम्मच दालचीनी अच्छी तरह मिला कर इसका गर्म ही सेवन करना होता है । इस दूध को पीने से हमारे शरीर को कई फायदे मिलते हैं जिनमें मुख्य रुप से-

 

विभिन्न शारीरिक समस्याओं में उपयोगी दूध और दालचीनी-

 

रोगों से बचाए दूध और दालचीनी

वजन कम करने में मददगार-

एक ग्लास गर्म दूध में आधा चम्मच दालचीनी पावडर और एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से मधुमेह व मोटापे की समस्या में राहत मिलने के साथ ही चेहरे पर निखार बढता है । यदि आप वजन कम करने के लिए परेशान हो रहे हैं तो रोजाना रात में दालचीनी वाला दूध पीने से आप महिने में 3 से 4 किलो तक अपना वजन घटा सकते हैं ।

 

मधुमेह रोगियों के लिये-

टाईप-2 डायबिटीज के रोगियों को दालचीनी वाला दूध पीने से इनके ब्लड-शुगर का लेवल नियंत्रण में रहता है जिससे इनकी इस रोग में दवाईयों पर निर्भरता में कमी आती है ।

 

हड्डियों की कमजोरी दूर करे दूध और दालचीनी-

दालचीनी वाले दूध का सेवन करने से हड्डियों से सम्बन्धित समस्याएं दूर रहती हैं और जिन लोगो को ऑर्थराइटिस से सम्बंधित समस्या है उन्हें इससे आराम मिलता है । इसके नियमित उपयोग से यह गठिया जैसे जिद्दी रोग को दूर करने में भी उपयोगी होता है ।

 

त्वचा व बालों के लिये उपयोगी

ये त्वचा और बालों से सम्बंधित सभी समस्याओं को दूर करने में उपयोगी रहता  है । इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते है जो बालों और त्वचा से सम्बन्धित हानिकारक रोगाणुओ को नष्ट कर देते हैं ।

 

रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा-

इसके एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण शरीर का प्रतिरक्षातंत्र मजबूत होता है । जिससे पाचन क्रिया में सुधार होने के साथ ही गले की समस्या जैसे दर्द व खराश दूर होने के साथ ही गैस व एसिडिटी की समस्या से बचाव होता है ।

 

अनिद्रा का उपचार है दूध और दालचीनी

सोते समय एक कप दालचीनी वाला दूध अनिद्रा की समस्या दूर कर अच्छी नींद लेने में मददगार होता है । यदि आपको गहरी नींद नहीं आती है तो रोज रात को दालचीनी मिश्रित गर्म दूध पीने से आपकी ये समस्या दूर हो जाएगी ।

 

पौरुष शक्ति बढाने में मददगार-

दालचीनी वाला गर्म दूध पीने से शरीर का इम्यून सिस्टम स्ट्रांग होने के साथ ही ये पुरुषों में स्‍पर्म-काउंट बढ़ाता है जिससे पुरुषों की सेक्युअल क्षमता लम्बे समय तक मजबूत बनी रहती है ।

 

एकाग्रता में वृद्धि-

पढ़ाई करने वाले छात्रों को दालचीनी वाला दूध पीने से उनकी एकाग्रता और मेमोरी पावर बढ़ता है और वे अपने रिजल्ट में बेहतर परिणाम ला सकते हैं ।

 

गंभीर बीमारियों से बचाव

दालचीनी वाले दूध का सेवन करने से दिल की बीमारी या हार्ट स्ट्रोक का खतरा दूर होता है । इसके नियमित सेवन से कैंसर रोग से बचाव होता है ।

 

Click & Read Also-

सबसे अनमोल क्या…?

स्वास्थ्य व सौंदर्य का दुश्मन मोटापा. 

युवतियों व बुजुर्गों का सदा मददगार – माय हीरो.

दूध और दालचीनी से हो सकते हैं कुछ नुकसान भी-

जहाँ हम इसके नियमित व नियंत्रित सेवन के बेशुमार फायदे देखते हैं वहीं कुछ विशेष स्थितियों में यह नुकसादायक भी हो सकता है । आईये उनके बारे में भी जान लें-

 

प्रेग्नेंट महिलाएं (Pregnant women)-

जो महिलाएं गर्भवती होती हैं, उन्हें दालचीनी का सेवन नहीं करना चाहिए । इससे उनको पेट में दर्द और एसिडिटी की समस्या हो सकती है । इसके अलावा इसके सेवन से समय से पहले ही डिलीवरी का खतरा बढ़ जाता हैं।

 

खून पतला होना (Blood diluted)-

भोजन में दालचीनी के अधिक प्रयोग से खून पतला होने लगता है । इसलिये जिन्हें पहले से ही रक्त से सम्बन्धित यदि कोई समस्या हो उन्हें डॉक्टर से परामर्श किये बगैर दालचीनी  का सेवन नहीं करना चाहिए ।

 

पेट की समस्या (stomach problems)-

अगर आप खाने में ज्यादा मात्रा में दालचीनी का सेवन करते हैं, तो इससे पेट में गैस बनने लगती हैं और साथ ही पेट के अंदुरुनी हिस्से में जलन होने लगती है । इसके अलावा पेट में अल्सर की समस्या वाले लोगों को भी दालचीनी का सेवन नहीं करना चाहिए । दालचीनी का सेवन उन लोगों को भी नहीं करना चाहिए जिनको लीवर में दर्द और सूजन की समस्या रहती हो ।

 

त्वचा की संवेदनशीलता में-

कुछ महिलाएं  दालचीनी  का पैक बनाकर अपनी त्वचा में ग्लो लाने के लिए इसका इस्तेमाल करती हैं, लेकिन जिन महिलाओं की त्वचा सेंसिटिव होती हैं उन्हें दालचीनी का पैक नहीं लगाना चाहिए । इससे उन्हें खुजली और रैशेज की समस्या हो सकती है ।

 

अधिक उपयोग से हानि-

इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से लौ ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर की समस्या उत्पन्न हो सकती है इसलिये इन विशेष परिस्थितियों में अपने डॉक्टर से परामर्श ले लेना उपयोगी होगा ।

 

सामान्य शारीरिक स्थितियों में आप निरापद रुप से गर्म दूध और दालचीनी  पावडर का यह मिश्रण  लेते हुए उपर दर्शित शारीरिक लाभ व रोग निदान में इसका प्रयोग निर्विघ्न रुप से करते रह सकते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.